मुख्य अभियन्ता-II (बजट), लखनऊ

संगठन के बारे में

उत्तर प्रदेश सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग उत्तर प्रदेश लखनऊ में प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष के अधीन मुख्य अभियन्ता (बजट) कार्यशील हैं। सिंचाई विभाग में वर्तमान में मुख्यतयः अनुदान संख्या 94 व 95 क्रियाशील हैं। अनुदान संख्या 94 के अन्तर्गत सिंचाई विभाग के निर्माण कार्य, जिसमें राजस्व लेखा व पूँजी लेखा सम्मिलित हैं।

वित्तीय वर्ष 2017-18 हेतु अनुदान संख्या 94 में राजस्व लेखा एवं पूंजी लेखा के अन्तर्गत कुल धनराशि रू0 691981.57 लाख का बजट प्राविधान है जिसमे राजस्व लेखा के अन्तर्गत रू0 320910.73 लाख तथा पूँजी लेखा के अन्तर्गत रू0 371070.84 लाख का बजट सम्मिलित है। उक्त के अतिरिक्त भारित के अन्तर्गत रू0 500.00 लाख की बजट व्यवस्था भी प्राविधानित है।

विभिन्न लेखाशीर्षकों यथा 4700, 4701, 4702, 2700, 2701, 2702, 2711, 4711 के अन्तर्गत प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष के निवर्तन पर चालू वित्तीय वर्ष हेतु प्राविधानित बजट की स्वीकृति वित्त विभाग की सहमति के उपरान्त प्रशासकीय विभाग के माध्यम से प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष के कार्यालय को प्रेषित की जाती है, जिस पर कार्यवाही प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष के अनुमोदनोपरान्त मुख्य अभियन्ता (बजट) द्वारा सम्बन्धित संगठन को बजट आवंटन प्राधिकार पत्र निर्गत किया जाता है। कार्यालय मुख्य अभियन्ता (बजट) द्वारा निर्गत बजट आवंटन के सापेक्ष क्षेत्रीय मुख्य अभियन्ताओं द्वारा प्राप्त प्रस्ताव को त्रैमासवार साख सीमा निर्गमन हेतु प्रस्ताव कार्यालय वित्त नियंत्रक सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश, लखनऊ को मुख्य अभियन्ता (बजट) से सम्बद्ध अधिषासी अभियन्ता द्वारा प्रेषित किया जाता है। उक्त कार्यो का माहवार अनुश्रवण सम्बन्धी कार्य मुख्य अभियन्ता (अनुश्रवण एवं मूल्यांकन), सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश, लखनऊ द्वारा किया जाता है।

वित्तीय वर्ष में विभिन्न परियोजनाओं/ नहर प्रणालियों एवं बाढ़ परियोजनाओं पर प्राविधानित बजट व्यवस्था के सापेक्ष क्षेत्रीय मुख्य अभियन्ताओं द्वारा प्रेषित माँग पत्र के आधार पर वित्तीय स्वीकृति निर्गत किये जाने हेतु प्रस्ताव प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष के अनुमोदनोपरान्त शासन को प्रेषित किये जाते हैं। इसी प्रकार विभिन्न परियोजनाओं/ नहर प्रणालियों एवं बाढ़ परियोजनाओं पर प्राविधानित धनराशि के अतिरिक्त क्षेत्रीय मुख्य अभियन्ताओं के स्तर से आवश्‍यकतानुसार प्रेशित माँग के विरूद्ध उपलब्ध बचतों के अनुसार पुनर्विनियोग/अनुपूरक/राज्य आकस्मिकता निधि के प्रस्ताव भी शासन को प्रेषित किये जाते हैं। वित्तीय वर्ष 2017-18 हेतु अनुदान संख्या 95 सिंचाई विभाग (अधिष्‍ठान) में प्राविधानित धनराशि (रू0 403260.08 लाख, जिसमें विभागीय वेतन व अन्य मद सम्मिलित हैं, का आवंटन सीधे ही वित्त नियंत्रक द्वारा सम्पादित किया जाता है।