संगठन के बारे में

 

 बुन्देलखण्ड क्षेत्र में विगत कई दशकों से सूखाग्रस्त होने के कारण क्षेत्र का कृषक पलायन को मजबूर हुआ है तथा लगातार सूखा पड़ने के कारण कई किसानों की मौतें भी हुई हैं। पेयजल की समस्या होने के कारण कई पशु भी मृत हुये हैं। बुन्देलखण्ड की कृषि योग्य भूमि में सिंचाई सुविधा न होने के कारण असिंचित रहीं हैं। कृषकों को मूलरूप से वर्षा पर ही निर्भर होकर खेती करना पड़ रही थी, जिससे कृषकों की अर्थिक स्थिति में निरन्त गिरावट हुई है। इस विषय परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुये बुन्देलखण्ड क्षेत्र में असिंचित भूमि को सिंचित करने के लिये नई परियोजनाओं के निर्माण की आवश्यकता हुई। जिसके लिये शासन द्वारा परियोजना बेतवा संगठन, झाँसी का गठन वर्ष 1998 में किया गया था। इस संगठन द्वारा बुन्देलखण्ड की कृषि योग्य असिंचित भूमि को सिंचित करने के लिये विभिन्न नदियों पर बांधों का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। वर्तमान में निम्न 10 परियोजनाओं का कार्य पूर्ण कर कृषकों को सिंचाई सुविधा उपलब्ध करायी जा रही हैं। 1-लखेरी बांध परियोजना, 2-सिजार बांध परियोजना, 3-कुरार बांध परियोजना, 4-मझगवाॅ बांध सहायक परियोजना, 5-औंगासी पम्प नहर परियोजना, 6- चै0 चरण सिंह लहचूरा बांध आधु0 परियोजना, 7-क्योलारी बांध सहायक परियोजना, 8-कचनौदा बांध परियोजना, 9-लोअर रोहिणी बांध परियोजना, 10-उटारी बांध परियोजना। 

इन बांधों से 90753 हैक्टेयर सिंचन क्षमता का सृजन किया जा चुका है तथा भू जल स्तर में वृद्धि, पीने का पानी, उपलब्ध कराया जा रहा है। इससे बुन्देलखण्ड क्षेत्र के कृषकों व आमजनों को राहत प्रदान की गई है, जिससे निरन्तर हो रहे पलायन में गिरावट आई है तथा आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है।
इसके अतिरिक्त 11 परियोजनायें निर्माणाधीन हैं, जिनका औसतन लगभग 50 प्रतिशत कार्य पूर्ण कराया जा चुका है। इन परियोजनाओं के पूर्ण होने पर 69207 है0 सिंचन क्षमता का सृजन प्रस्तावित है।
1-भौंरट बांध परियोजना, 2-जमरार बांध परियोजना, 3-पहूँज बांध परियोजना, 4-रसिन बांध परियोजना, 5-अर्जुन सहायक बांध परियोजना, 6-पहाड़ी बांध आधुनिकीकरण परियोजना, 7-रतौली वियर बांध परियोजना, 8-भावनी बांध परियोजना, 9-बण्डई बांध परियोजना, 10-बबीना कैनाल परियोजना, 11-एरच बहुउद्देशीय बांध परियोजना।
इस संगठन द्वारा विद्युत उत्पादन हेतु 02 सोलर पावर प्लान्ट का निर्माण कार्य भी कराया जा रहा है। 1-जनपद ललितपुर में 3.42 मेगावाट सोलर पावर प्लान्ट परियोजना 2-जनपद ललितपुर में 2.50 मेगावाट विद्युत उत्पादन का कार्य भी प्रस्तावित हैं।
उपरोक्त परियोजनाओं के अतिरिक्त इस संगठन द्वारा 05 नं0 नये बांधों का निर्माण कार्य जनपद ललितपुर में कराया जाना भी प्रस्तावित है, जिनका सर्वेक्षण कार्य किया जा रहा है। फीजिबल पाये जाने पर निर्माण कार्यवाही की जायेगी। इन परियोजनाओं से 228061 है। सिंचन क्षमता क्षमता सृजित होना संभावित है।
1-विराट सागर बांध परियोजना, 2-बाघेन बांध परियोजना, 3-धुरवारा बांध परियोजना, 4-टकटईया बांध परियोजना, 5-बन्ट बांध परियोजना।